हनुमानजी की जाति को लेकर तेज हुई सियासत, दलितों ने कब्जे में लिए हनुमान मंदिर

राजस्थान विधानसभा चुनाव में प्रचार के दौरान यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जिस तरह से हनुमान को दलित बताया, उसको लेकर बवाल बढ़ता ही जा रहा है, आगरा में हनुमान मंदिर में दलितों ने कुछ देर तक कब्जा कर प्रदर्शन किया और जनेऊ धारण करते हुए मंदिर में हनुमान चालीसा पढ़ी.

हनुमान मंदिर में पूजा करने के बाद दलितों ने घोषणा करते हुए कहा कि अब दलित समाज के लोग देश में अपने समाज के भगवान हनुमान के सभी मंदिरों की पूजा पाठ का काम संभालेगा. वहीं, इस प्रकरण पर मंदिर के पुजारी ने कहा कि यहां कोई भी आकर पूजा और हनुमान चालीसा पढ़ सकता है हमे इससे कोई आश्चर्य की बात नही है. अलवर में सीएम योगी आदित्यनाथ के हनुमान को दलित बताने के बाद आगरा के हनुमान मंदिर में दलित समाज के लोगो ने प्राचीन लंगड़े की चौकी हनुमान मंदिर पर कब्जा जमा लिया है.

यह भी पढ़ें:- 30 साल के दबंग IPS ने केद्रीय मंत्री को दिखाई वर्दी की ताकत…बोले-सस्पेंड होने का डर नहीं। 

उत्तराखंड में भूकंप कभी भी मचा सकता है तबाही

सेना भर्ती में चीते की तरह दौड़ने वाले युवाओं का खुला ये राज, तो सैन्य अधिकारी भी रह गए हैरान, भर्ती प्रक्रिया से कर दिया गया आउट।

उन्होंने यहां आकर पहले जनेऊ धारण की और फिर हनुमान चालीसा का पाठ कर पूजा की. इसके बाद उन्होंने योगी आदित्यनाथ द्वारा हनुमान की जाती बताने पर धन्यवाद भी दिया. आपको बता दे कि लंगड़े की चौकी हनुमान मंदिर आगरा का अति प्राचीन मंदिर माना जाता है और इसका बहुत इतिहास भी बहुत विशाल है,

हालांकि कब्जे करने वालो में मुख्य व्यक्ति अमित सिंह कन्नौजिया दलित धोबी समाज के साथ-साथ कांग्रेस के नेता भी हैं.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here